About

वाणिज्य विषय में स्नातकोत्तर के पश्चात राजस्थान सरकार में एक लेखाकर्मी के रूप में कार्यरत हूँ |  प्रारम्भ से ही  पढ़ने और लिखने का शौक रहा | इसके अतिरिक्त किशोरावस्था से ही ज्योतिषीय गणित और फलित में बेहद रूचि रही जिसका लाभ यह मिला कि नाना प्रकार के जातकों से प्रतिदिन मिलना होता रहा जिनसे मुझे कथाओं के लिए बेशुमार पात्र मिले हैं |  जातकों की प्रतिकूलताएं ज्योतिष में तो हमेशा कुछ सीखने में मदद करती ही है किंतु मानवीय संवेदनाओं और मनोविज्ञान का व्यावहारिक ज्ञान इस कदर मिला कि मेरी कथाएं  संवेदनाशून्य न रही |   कोशिश रहती है क़ि व्यावहारिक जीवन को ही कलमबद्ध करूँ जिसमें मेरी कल्पनाएं पंख लगा कर उड़ सके.. मुक्त आकाश में ..