यायावर के किस्‍से

Lekhak लेखक, ज्‍योतिषी, विचारक अविनाश व्‍यास

एक लेखाकर्मी के रूप में कार्यरत, पढ़ने और लिखने का शौक, किशोरावस्था से ज्योतिषीय गणित और फलित में रूचि, नाना प्रकार के जातकों से प्रतिदिन मिलना, कथाओं के लिए बेशुमार पात्र, मानवीय संवेदनाओं और मनोविज्ञान का व्यावहारिक ज्ञान इस कदर मिला कि मेरी कथाओं ने संवेदनाएं पा ली। कोशिश यही क़ि आम जिंदगी को कलमबद्ध किया जाए, वहीं से मेरी कल्पनाएं पंख लगा कर उड़ सकें..

मानवीय मूल्‍यों के मुक्त आकाश में…

Advertisements